प्राची वर्मा

यह डांस नहीं आसान, यह है बालमन को बचाने और उसे उड़ने देना का एक खुला आसमान…

भैरंट किस्से

भोपाल की प्राची वर्मा डांस के जरिए दे रही बाल शोषण के खिलाफ लड़ने और इससे बचने का संदेश

भोपाल डेस्क। कहते हैं कला दुनिया में एक ऐसी भाषा है जिसमें व्यक्ति बिना कुछ बोलकर सिर्फ अपनी कला के माध्यम से ही सब कुछ कह देता है। उसमें बात हो जब डांस की तो फिर क्या कहने, आजकल हर कोई नाच ही रहा है कोई किसी रियलिटी शो में तो कोई अपने बॉस के अनुसार तो सार जनता सरकार के इशारों पर। इस डांस की बदौलत न जाने क्या-क्या हो रहा है। चलो बड़ी बकैती कर ली अब आते है मुद्दें पर हम बात कर रहे भोपाल शहर की प्राची वर्मा के बारे में-

इन्होंने डांस से कौउनो खिताब तो नहीं जीता लेकिन यह खुद में ही एक उपलब्धि है क्योंकि यह अपने डांस के माध्यम से इस समय के सबसे बड़े और संवेदनशील मुद्दें बाल शोषण( child abouse) जैसे मुद्दों को अपने एकल अभिनय ( शोलो एक्ट) के माध्यम से एक कहानी के रूप में रखती है।
यूनिसेफ से फेलोशिप कर चुकी प्राची अभी एमए कर रही हैं, लेकिन उनके बालमन मे यह मुद्दा कई दिनों से कुलबुला रहा था। जिसको उन्होंने अपनी फेलोशिप के समय शब्दों में बांधकर एक एक्ट का रूप दिया और अब इसे यह भोपाल समेत कई जगह अभिनय कर लोगों को जागरूक कर रही है। नीचे दिए लिंक पर देख सकते हैं-

https://www.youtube.com/watch?v=ZIf54B6uAc0

इस एक्ट में यह अपने घर-परिवार के ही किसी व्यक्ति द्वारा शोषित बच्चे के मन पर बीतने वाले दर्द को अपने डांस के माध्यम से दिखाती है साथ ही लोगों को यह भी बताने का प्रयास करती है कि किस तरह हम न सिर्फ इस समस्या से बच सकते हैं बल्कि समय आने पर इसका मुकाबला भी कर सकते हैं।
इस एक्ट के अंत में वो एक कविता के माध्यम से बहुत ही चौकस ढंग से अपने बात प्रस्तुत करती है, इस कविता की कुछ लाइन-

” कुछ ही देर की बात होती है, जब हम घुल-मिल जाते हैं
हमको चॉकलेट मिलती है और हम बातों में आ जाते हैं।
यह लोग हर कहीं हैं
जहां विश्वास है और जहां बचपन भी है।
वही खेल रहा है दिमाग से और हम फंस जाते हैं।”

अगर आपके पास भी है ऐसी कोई कहानी, तो आप हमे हमारे इमेल the.journalistss1@gmail.com पर भेज सकते हैं।

Leave a Reply