यूपी में भी गरमाया महाराष्ट्र की राजनीति का मुद्दा, मुख्यमंत्री योगी ने अब इसका नाम किया शिवाजी…

उत्तर प्रदेश, चुनाव उत्सव

यूपी डेस्क।

महाराष्ट्र में सुशांत की मौत के बाद से ही सुशांत की आत्महत्या महाराष्ट्र समेत पूरे देश में यह राजनीति का नया मुद्दा मिल गया। यह तो यूं कहें कि बिहार कनेक्शन की वजह से इस मुद्दें को राजनीति का मुद्दा बना लिया गया। सरकार से शुरू हुई यह रार बॉलीवुड होते हुए यूपी पहुंच गई। यूपी के  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा में बन रहे म्यूजियम का नाम बदलकर शिवाजी के नाम पर रख दिया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने समीक्षा बैठक में सोमवार को बड़ा निर्णय लिया है। उन्होंने ताजनगरी आगरा के साथ ही फिरोजाबाद, मथुरा तथा मैनपुरी के विकास कार्य के साथ कानून-व्यवस्थातथा कोविड-19 की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने निर्णय लिया कि प्रदेश में अखिलेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं में शामिल मुगल म्यूजियम अब छत्रपति शिवाजी के नाम से जाना जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार शाम मंडलीय समीक्षा में इसकी घोषणा की। उन्होंने कहा “हमारे नायक मुगल नहीं हो सकते, शिवाजी महाराज हमारे नायक हैैं।” उन्होंने प्रदेश सरकार को राष्ट्रवादी विचारों को पोषित करने वाली सरकार बताते हुए कहा कि गुलामी की अब मानसिकता के प्रतीक चिह्नों को छोड़कर हमें राष्ट्र के प्रति गौरवबोध कराने वाले विषयों को बढ़ावा देने की आवश्यकता है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा में मुगलों की विशेष उपलब्धियों को प्रदर्शीत करने वाले मुगल म्यूजियम (मुगल संग्रहालय) का नाम बदल कर छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर रखने का जैसे ही आदेश दिया, उसी पल से राजनतीकि दलों की प्रतिक्रिया आने का सिलसिला शुरू हो गया।

योगी के इस ट्वीट के बाद से महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणनवीस ने ट्वीट करके योगी के फैसले का स्वागत किया।

कंगना ने मुख्यमंत्री के इस ट्वीट का समर्थन करते हुए अपनी बात कही है। योगी आदित्यनाथ के ट्वीट पर रिएक्शन देते हुए कंगना ने दावा किया कि उनके पूर्वजों का संबंध शिवाजी महाराज से है। कंगना ने लिखा कि जस तरह से महान नेता बाला साहेब ठाकरे के पूर्वज बिहार से आते हैं। उसी तरह कई थ्योरीज में महान शिवाजी महाराज का संबंध जयपुर के राजघराना से भी बताया गया है। मैं हिमाचल में पैदा हुई हूं लेकिन लेकिन मेरे पूर्वजों रनोट का संबंध उदयपुर से है। हमारी कुल देवी मां अंबिका हैं।

 

बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा में मुगलों की विशेष उपलब्धियों को प्रदर्शीत करने वाले मुगल म्यूजियम का नाम बदल कर छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर रखने का आदेश दिया है। राज्य सरकार के प्रवक्ता बताया कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को अपने सरकारी आवास पर वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से आगरा मंडल के विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान यह आदेश दिए हैं।

ताजमहल के पूर्वी गेट के नजदीक बन रहे मुगल संग्रहालय में मुगलों के दौर में हासिल की गई राजनीतिक और सांस्कृतिक उपलब्धियों को कलाकृतियों के माध्यम से प्रदर्शीत किया जाएगा। लगभग 52 वर्ग मीटर क्षेत्र में बन रहे इस संग्रहालय के निर्माण पर करीब 20 करोड़ रुपये खर्च होंगे। वर्ष 2017 में बनना शुरू हुए इस संग्रहालय का निर्माण 2019 तक पूरा हो जाना था। यहां पर काम अभी भी जारी है।


अपनी राय, लेख और खबरें हमें नीचे कमेंट पेटी या the.journalistss1@gmail.com या व्हाट्सएप 6269177430 के जरिये भेजें. 

फेसबुकट्विटरयूट्यूब  हमसे जुड़ेें

Leave a Reply