नौकरी की तुलना में दो गुनी तेजी से बढ़ रही जनसंख्या, बिना कॉन्ट्रेक्ट कर्मचारियों को मिल रही तवज्जो…

खबर-सार, स्वदेश

स्वदेश डेस्क।

पांच बिंदुओं में खबर-सार

धानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद् की तरफ से जुटाए आंकड़ों के आधार पर की गई ,इस रिपोर्ट में कहा गया है कि साल 2004 के बाद रोजगार की तुलना में जनसंख्या वृद्धि की दोगुनी रफ्तार से हुई।
. रिपोर्ट में पाया गया कि पिछले 15 साल की अवधि में रोजगार में बढ़ोतरी की दर 0.8 फीसदी रही जबकि इस दौरान जनसंख्या वृद्धि दर 1.7 फीसदी रही।
. बिना कॉन्ट्रैक्ट वाले रोजगार में आपको श्रम के बदले में कम पैसा देना होता है। इसके साथ ही काम का माहौल और जॉब सिक्योरिटी और भी कॉन्ट्रैक्ट तुलना में नहीं के बराबर होती है।
. स्टडी के अनुसार साल 2012 में जहां बिना कॉन्ट्रैक्ट वाले कर्मचारियों की संख्या 2.44 करोड़ थी जो 2018 में बढ़कर 3.61 करोड़ हो गई। वहीं कॉन्ट्रैक्ट वाले कर्मचारी साल 2012 के 2.65 करोड़ की तुलना में 6 साल बाद 2.80 करोड़ ही रहे।
. बता दें कि इस स्टडी में नेशनल सैंपल सर्वे ऑर्गनाइजेशन (एनएसएसओ), द इम्पलॉयमेंट-अनइम्पलॉयमेंट सर्वे ऑफ 2004-05 और 2011-12 के साथ ही 2017-18 के पीरियड लेबर फोर्स सर्वे की तुलना की गई है।


 

अपनी राय, लेख और खबरें हमें नीचे कमेंट पेटी या the.journalistss1@gmail.com या व्हाट्सएप 6269177430 के जरिये भेजें. फेसबुकट्विटरयूट्यूब  हमसे जुड़ेें

Leave a Reply