इस बार इन चीजों का इस्तेमाल कर मनाएं हैप्पी दीवाली मस्ती वाली…

स्वदेश

डॉक्टर सुधीर पांडेय, आरएमओ, आयुर्वेदाचार्य।

­
दीवाली में कुछ ही दिन बचे हैं तो ज़ाहिर है इस बार आपने दीवाली मनाने का पूरा प्‍लान पहले से ही बना लिया होगा और हो भी क्‍यों ना, यह तो दोस्‍तों और परिवार के साथ मिलकर आनंद उठाने वाला त्‍योहार है। पर क्‍या आपने सही मायने में दीवाली की पूरी तैयारी कर ली है? यहॉ तैयारी का मतलब सिर्फ अच्‍छे कपड़ों, मिठाइयॉ और पटाखों से ही नहीं है बल्कि सही तैयारी का मतलब है दीवाली में स्वस्थ्य और स्वच्छता की। दिवाली पर आपने खूब पटाखे छोड़ने की प्‍लानिंग कर रखी होगी और अलग-अलग तरह के पकवान आपका मन यूं ही मोह लेंगे, लेकिन दीवाली में जहां कोई पटाखे छुड़ाकर मस्ती करता तो किसी को उसके धुएं से अस्थमा समेत कई बीमारियां होने और उसके बढ़ने का करते हैं।

इस मौके पर भोपाल जिला आयुर्वेद अस्पताल के डॉक्टर सुधीर पांडेय का कहना है कि दीवाली के बाद जहांं लोग डॉक्टर के यहां लाइन लगाते हैं, सिर्फ थोड़े परहेज और घर के औषद्यालय यानी हमारी रसोई का सही इस्तेमाल से आप कई बीमारियों से बच सकते हैं और मना सकते हैं हैप्पी दीवाली, मस्ती वाली…

सांस संबंधी बीमारी वाले करें इसका इस्तेमाल


सुधीर पांडेय ने बताया कि पटाखे जलाने की वजह से वायु में सल्फर समेत कई केमिकल बढ़ जाते हैं जिससे बचने के लिए हम यदि अपने खाने में काली मिर्च, हींग का उपयोग कर बिना किसी परेशानी के अस्थमा समेत कई बीमारी से परेशान लोग भी बिना किसी परेशानी के दीवाली मना सकते हैं।

डायबिटीज वाले करें इसका इस्तेमाल


दीवाली मतलब मीठा, लोग बड़े प्यार से आपको मीठा खिलाते हैं जिसे आप मना भी नहीं कर सकते हैं ऐसे में डायबिटीज के मरीज़ मीठे के साथ दालचीनी का उपयोग करते रहेंगे तो उनका शुगर लेवल भी कंट्रोल रहेगा और वो बिना किसी टेंशन के दीवाली इंजॉय कर सकेंगे।

इसका उपयोग कर लोहे के चने भी पचा लेगें


दीवाली में कई बार खाने के चक्कर में लोग अपना पेट खराब कर लेते हैं जिसके बाद उन्हें बदहजमी, कब्ज समेत कई बीमारियां हो सकती है, इसके लिए यदि हम अपने खाने में अजवाईन, हींग का उपयोग करेंगे तो बिना किसी परेशानी के सब कुछ पचा सकेंगे।


 

अपनी राय, लेख और खबरें हमें नीचे कमेंट पेटी या the.journalistss1@gmail.com या व्हाट्सएप 6269177430 के जरिये भेजें. फेसबुकट्विटरयूट्यूब  हमसे जुड़ेें

Leave a Reply